प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना – PM Garib Kalyan Yojana मे 80 करोड़ लोगो को मिलेगा लाभ

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना – वित्त मंत्री ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्ना योजना शुरू करने की घोषणा की है। केंद्र सरकार ने गरीब परिवारों के लिए राहत पैकेज की घोषणा के साथ योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, केंद्र सरकार देश में 80 करोड़ गरीब राशन कार्ड धारकों को गेहूं और चावल की व्यवस्था करेगी। केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना) के तहत, लगभग 80 करोड़ गरीब परिवारों को राशन कार्ड की मदद से 2 रुपये प्रति किलो गेहूं दिया जाएगा और 3 रुपये प्रति किलो में चावल उपलब्ध कराया जाएगा। Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana – इस योजना के तहत, राशन (गेहूं और चावल) प्रत्येक राशन कार्ड धारक परिवार को परिवार में प्रत्येक सदस्य के अनुसार सब्सिडी पर प्रदान किया जाएगा। इस लेख में, हम आपको प्रधान मंत्री गरीब कल्याण अन्ना योजना और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुरू किए गए राहत पैकेज के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

केंद्र सरकार द्वारा एक राहत पैकेज की घोषणा की गई है। इस पैकेज में देश के गरीब लोगों और दिहाड़ी मजदूरों के लिए कई घोषणाएं की गई हैं। गरीब परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार द्वारा एक राहत पैकेज की घोषणा की गई है। इसी क्रम में केंद्र सरकार ने गरीब परिवारों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्ना योजना शुरू की है। इसके तहत, केंद्र तीन महीनों के लिए 80 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को सस्ती दरों पर राशन प्रदान करेगा। इस राहत पैकेज में कहा गया है कि गरीबों के घर में गेहूं और चावल रखे जाएं और चूल्हा जलता रहे और पेट को सोने का मौका न मिले।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का उद्देश्य

केंद्र सरकार ने अपने विशेष राहत पैकेज के तहत गरीब राशन कार्ड धारकों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (Pradhanmantri Ration Subsidy Yojana) शुरू की है।

केंद्र सरकार के राहत पैकेज के महत्वपूर्ण तथ्य

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से, केंद्र सरकार ने पूरे देश में गरीबों के लाभ के लिए एक राहत पैकेज की घोषणा की है। इस राहत पैकेज की प्रमुख घोषणाएं इस प्रकार हैं। बुजुर्ग, दिव्यांग और विधवाओं को तीन किस्तों में दो महीने के लिए 1000 रुपये की अतिरिक्त राशि प्रदान की जाएगी। इसके माध्यम से तीन करोड़ से अधिक लाभार्थियों को लाभान्वित करने की बात कही गई है।
  • प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत, महिला जन धन खाताधारकों को 3 महीने के लिए 500 रुपये सीधे बैंक खाते में प्रदान किए जाएंगे।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि यह सभी सहायता लाभार्थियों के खाते में डीबीटी के माध्यम से प्रदान की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सभी गृहिणियों को तीन महीने के लिए मुफ्त सिलेंडर प्रदान किया गया है।
  • मनरेगा के तहत काम करने वाले दिहाड़ी मजदूरों की मजदूरी 180 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये करने का फैसला किया गया है।
  • देश के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी, इस योजना के तहत, देश के किसान, मनरेगा मजदूर, गरीब विधवा, गरीब विकलांग और गरीब पेंशनभोगी, जन धन योजना के लाभार्थी, उज्ज्वला, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, संगठित क्षेत्र के श्रमिक और निर्माण श्रमिकों ने लोगों के लिए घोषणा की।
  • वित्त मंत्री ने बीपीएल श्रेणी के गरीब परिवारों को 5 किलो गेहूं या चावल और 1 किलो दाल मुफ्त देने की भी घोषणा की है।

केंद्र सरकार की राशन सब्सिडी योजना की विशेषताएं

  • वित्त मंत्रालय द्वारा इस राहत पैकेज में गरीब परिवारों के लिए कई योजनाएं शुरू की गई हैं।
  • इसके तहत देश के 80 करोड़ लाभार्थियों को सब्सिडी पर राशन (गेहूं और चावल) देने की व्यवस्था की गई है।
  • प्रधान मंत्री राशन सब्सिडी योजना के तहत, सरकार द्वारा 3 महीने के लिए 80 करोड़ लाभार्थियों को 7 किलो राशन प्रदान किया जाएगा।
  • इसके साथ ही प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत लाभार्थी महिलाओं को तीन महीने के लिए मुफ्त सिलेंडर देने का प्रस्ताव है।

प्रधानमंत्री के गरीब कल्याण की कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएँ

केंद्र सरकार द्वारा 1.70 करोड़ के राहत पैकेज के तहत शुरू किए गए प्रधानमंत्री के गरीब कल्याण की कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएँ निम्नलिखित हैं।

गरीब कल्याण दिव्यांग पेंशन योजना

केंद्र सरकार ने आने वाले 3 के लिए देश भर में लॉक-डाउन की स्थिति में विकलांग व्यक्तियों के लिए 1000 रुपये की अतिरिक्त पेंशन प्रदान करने का निर्णय लिया है।

केंद्र सरकार देगी 3 महीने का ईपीएफ

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत, केंद्र सरकार अगले तीन महीनों में ईपीएफ योगदान देगी। यह योगदान कर्मचारियों के ईपीएफ बैंक खाते में किया जाएगा। इसका लाभ सभी कंपनियों को मिलेगा जिसमें 100 या अधिक कर्मचारी काम करते हैं और कर्मचारियों का वेतन कम से कम। 15000 है।

एलपीजी बीपीएल गैस सब्सिडी योजना

देशव्यापी तालाबंदी की स्थिति में, हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा 21 दिनों के लिए तालाबंदी का निर्णय लिया गया है। इस लॉक-डाउन अवधि में, तीन महीने के लिए गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों को मुफ्त गैस सिलेंडर प्रदान किया जाएगा। इस योजना के तहत लगभग 8.3 करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में पंजीकरण कैसे करें?

योजना के ऑनलाइन पंजीकरण के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा कोई मैनुअल जारी नहीं किया गया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्ना योजना के लिए कोई पंजीकरण प्रक्रिया निर्धारित नहीं है। देश के इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना के तहत 3 रुपये प्रति किलो की दर से गेहूं और चावल प्राप्त करना चाहते हैं, वे राशन की दुकान पर जाकर अपने राशन कार्ड के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त सिलेंडर प्रदान करने और घर पर पात्र नागरिकों और परिवारों को अन्य योजनाओं के लाभ के लिए एक रूपरेखा तैयार की जा रही है। इस संबंध में, वित्त मंत्रालय द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से भी निर्देश दिए जा सकते हैं। प्रधान मंत्री राशन सब्सिडी योजना मुख्य रूप से गरीब परिवारों को सब्सिडी पर राशन प्रदान करने के लिए शुरू की गई है। अन्य सरकारी योजनाओं की जानकारी यहाँ देखे – क्लिक करे

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!